नॉर्थईस्ट के राज्यों में बाढ़ का प्रकोप, असम में मरने वालों की संख्या पहुंची 73

Image Source : PTI
Road washed away by flood waters in Assam

Highlights

  • ‘बाढ़ प्रभावित असम और मेघालय के साथ खड़ी है केंद्र सरकार’
  • असम के लगभग 33 जिलों में 43 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित
  • बचाने गए 3 पुलिसकर्मी भी बाढ़ में बह गए

Flood Situation in Assam And Meghalaya: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को कहा कि एक अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय दल नुकसान का आकलन करने के लिए असम और मेघालय के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करेगा। इसे लेकर अमित शाह ने असम और मेघालय के सीएम हिमंत बिस्व सरमा और कोनराड संगमा से बात की। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार जरुरत के क्षण में दोनों राज्यों के लोगों के साथ मजबूती से खड़ी है।

उन्होंने ट्वीट में लिखा, “भारी बारिश और बाढ़ के मद्देनजर दोनों राज्यों के कुछ हिस्सों में स्थिति पर चर्चा करने के लिए असम के सीएम हिमंत बिस्व सरमा और मेघालय के सीएम कोनराड संगमा से बात की। मोदी सरकार इस जरुरत की घड़ी में असम और मेघालय के लोगों के साथ मजबूती से खड़ी है।” 

गृह मंत्री ने कहा कि बाढ़ के पहले के दौर के बाद एक अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय दल ने 26 से 29 मई तक असम के प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। इस समय असम में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है और राज्य के 35 में से 33 जिलों में लगभग 43 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। 

भोजन और जरूरी सामग्री पहुंचाने का निर्देश

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने उन क्षेत्रों में भोजन और अन्य राहत सामग्री को हवा से गिराने का निर्देश दिया, जहां लोग भारी बाढ़ की चपेट में हैं। राज्य में आई बाढ़ और भूस्खलन में मरने वालों की संख्या सोमवार को बढ़कर 73 हो गई। मरने वालों में नागांव जिले के एक पुलिस थाने के प्रभारी सहित दो पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। ये पुलिस वाले बाढ़ में फंसे हुए लोगों की मदद के लिए गए थे, लेकिन पानी में बह गए। उनके शव सोमवार सुबह निकाले गए।

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.