‘पता होता तो खुद ना सुधार कर लेता…’ एनरिक नॉर्किया से पूछी कमी तो मिला यह जवाब

‘पता होता तो खुद ना सुधार कर लेता…’ एनरिक नॉर्किया से पूछी कमी तो मिला यह जवाब

राजकोट. दक्षिण अफ्रीका के पेसर एनरिक नॉर्किया चोट से वापसी के बाद ‘पुरानी धार’ को फिर से हासिल करने के लिए के लिए पूरा जोर लगा रहे हैं. पिछले साल टी20 वर्ल्ड कप के बाद चोट के कारण 6 महीने तक क्रिकेट से दूर रहने के बाद नॉर्किया ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के बीते सत्र में वापसी की, लेकिन उनकी गेंदबाजी वैसा पैनापन नहीं दिखा जिसके लिए वह जाने जाते है. आईपीएल के पिछले सत्र से पहले कागिसो रबाडा और नॉर्किया की जोड़ी को इस लीग की सबसे खतरनाक जोड़ी में से एक माना जा रहा था.

‘अभी तक उस स्तर तक नहीं पहुंच पाया’
नॉर्किया की बेहतरीन गेंदबाजी के कारण दिल्ली की टीम ने अनुभवी रबाडा की जगह उन्हें टीम में बरकरार रखने का फैसला किया लेकिन वापसी के बाद उनके खेल का वह स्तर नहीं था जिसके लिए वह जाने जाते है. नॉर्किया ने गुरुवार को कहा, ‘मैं अभी तक उस (चोट से पहले के) स्तर तक नहीं पहुंच पाया हूं. मैं इसमें सुधार पर अब भी काम कर रहा हूं और 1-2 चीजों की कमी को दूर करने की कोशिश कर रहा हूं.’

इसे भी देखें, उमरान मलिक जितनी तेज गेंदबाजी नहीं कर सकता, ये बात जानता हूं: हर्षल पटेल

मैच से पहले कड़ी प्रैक्टिस
उन्होंने कहा, ‘मैं अपना आकलन पिछले साल के आईपीएल और टी20 विश्व कप के खेल के स्तर से कर रहा हूं और उस स्तर पर पहुंचने की कोशिश कर रहा हूं.’ भारत के खिलाफ चौथे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच से पहले नॉर्किया सटीकता हासिल करने के लिए यहां नेट पर कड़ा अभ्यास करते दिखे. उनके साथ ड्वेन प्रिटोरियस और स्पिनर तबरेज शम्सी भी मेहनत कर रहे है.

‘पता होता तो खुद सुधार लेता’
नॉर्किया से जब पूछा गया कि उनकी गेंदबाजी में कमी क्यों रह रही तो उन्होंने हंसते हुए कहा, ‘अगर मुझे पता होता तो मैंने अब तक सुधार कर लिया होता. यह छोटे बदलाव के बारे में है. मैं चीजों को सामान्य रखने की कोशिश करता हूं. मैं अभी किसी चीज पर काम कर रहा हूं और देखते है कि परिणाम कैसा होता है.’

चोटिल होने से कई चीजें सीखीं
28 साल के इस पेसर ने कहा, ‘ऐसा नहीं है कि मैंने पूरी तरह से लय गंवा दी है. यह छोटे-छोटे सुधारों के बारे में हैं और मैं इसे सही कर फिर से उस स्तर को हासिल करना चाहूंगा, जहां पहले था.’ उन्होंने कहा कि चोटिल होने से उन्हें कई चीजें सीखने को मिलीं. उन्होंने कहा, ‘यह काफी मुश्किल है क्योंकि चोट से वापसी के बाद आप सीमित चीजें कर सकते है. आप लगातार 8-9 ओवर गेंदबाजी नहीं कर सकते हैं. यह चुनौतीपूर्ण समय है और इससे भविष्य में चोट से निपटने में मदद मिलेगा.’

Tags: Anrich Nortje, Ind vs sa, India vs South Africa, Umran Malik

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.