आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के लिए दिल्ली से धर्मशाला भेजी गई थी स्पेशल कार: किताब में दावा

आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के लिए दिल्ली से धर्मशाला भेजी गई थी स्पेशल कार: किताब में दावा

नई दिल्ली. भ्रष्टाचार के मामले में देश छोड़ने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के पूर्व आयुक्त ललित मोदी के लिए धर्मशाला और नागपुर जैसे शहरों में मर्सिडीज की एस-क्लास कारों का विशेष तौर पर इंतजाम करना पड़ा था, क्योंकि इन शहरों में यह कार उपलब्ध नहीं थी. वह किसी अन्य कार में सवारी नहीं करना चाहते थे. नई किताब ‘मेवरिक कमिश्नर: द आईपीएल-ललित मोदी सागा’ में लेखक बोरिया मजूमदार ने यह दावा किया कि ललित मोदी (Lalit Modi) जब आईपीएल मैच के लिए धर्मशाला गए थे, तो उनके कार्यालय ने दिल्ली से उनके लिए मर्सिडीज की एस क्लास कारें भेजी. ये कारें धर्मशाला में उनके विमान से उतरने से पहले वहां पहुंच गई थीं.

बोरिया मजूमदार ने एक और घटना का जिक्र करते हुए लिखा है कि जब मोदी मई 2010 में देश छोड़ चुके थे, तो एक होटल ने बीसीसीआई को एक बिल राशि भेजी थी, जो कि बकाया थी और तब बोर्ड ने उनके बिल को भरने से मना कर दिया था. लेखक के अनुसार, ये कुछ उदाहरण हैं, जिससे पता चलता है कि कई लोग आईपीएल से क्यों नफरत करते रहे. उनका कहना है कि क्रिकेट की बढ़ती ब्राॅन्ड वैल्यू के बावजूद इसमें ग्लैमर और ऐश्वर्य का अश्लील प्रदर्शन हमेशा लोगों की आंखों में धूल झोंकने वाला था.

बेवजह खर्च करने के आरोप

लेखक के मुताबिक, ‘ललित मोदी अपनी सफलता के खुद शिकार हो गए. उनका मानना था कि ग्लैमर और ऐश्वर्य के बिना यह लीग नहीं चल पाएगी.’ आईपीएल के पहले 2 सीजन की सफलता के बाद वह अपने शौक को पूरा करने में बेवजह का खर्च कर रहे थे. उन्होंने लिखा कि ललित एक मैच को देखने के लिए धर्मशाला गए थे. उनके कार्यालय ने दिल्ली से दो एस-क्लास मर्सिडीज कारें बुक की थीं, जो विमान से उनके उतरने से पहले वहां पहुंच गयी थीं. उन्होंने कहा कि ऐसा ही वाकया नागपुर में हुआ. जब वह शशांक मनोहर से मिलने गए थे. नागपुर में इस तरह की कोई कार नहीं थी, इसलिए ललित के लिए हैदराबाद से कार बुक करके नागपुर भेजी गई.

पूरा फ्लोर बुक कराते थे

उनकी फिजूलखर्ची का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता था कि वह फाइव स्टार की होटल में पूरी फ्लोर (मंजिल) अपने इस्तेमाल के लिए बुक (आरक्षित) करवाते थे और किसी के पास भी उनसे यह सवाल करने की हिम्मत नहीं थी कि यह उनके अपने खर्च से हो रहा या बीसीसीआई के पैसे से. लेखक ने हालांकि कहा कि मोदी ने आईपीएल को बीसीसीआई के लिए सोने के अंडे देने वाली मुर्गी की तरह का ब्रांड बना बना दिया.

पूर्व भारतीय कोच से समझिए मिडास टच वाले चंद्रकांत पंडित की खूबियां, इसलिए दिया जा रहा है यह खास नाम

चंद्रकांत पंडित के कड़क कोच बनने के पीछे इस दिग्गज का हाथ, वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भी उतरे

उन्होंने कहा कि आईपीएल बनाकर ललित मोदी ने भारत और उसके बाहर क्रिकेट को एक नया जीवन दिया. क्रिकेटरों को एक नई पहचान मिली और निवेश का एक नया अवसर मिला. प्रसारकों को एक जादुई उत्पाद मिला और बीसीसीआई को सोने के अंडे देने वाली मुर्गी मिली.

Tags: BCCI, Indian Premier Leauge, IPL, Lalit modi

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.