84 साल पहले लॉर्ड्स में रचा गया था इतिहास, क्रिकेट फैंस को मिली थी सबसे बड़ी सौगात

84 साल पहले लॉर्ड्स में रचा गया था इतिहास, क्रिकेट फैंस को मिली थी सबसे बड़ी सौगात

नई दिल्ली. वैसे तो इस बात की ठीक-ठीक जानकारी नहीं है कि क्रिकेट का पहला मैच कब और किसके बीच खेला गया था. लेकिन, इस खेल को शुरू हुए 200 साल से तो अधिक हो चुके हैं. ऐसा माना जाता है कि इस खेल की शुरुआत इंग्लैंड से हुई और फिर क्रिकेट उन देशों में पहुंचा, जहां-जहां इंग्लैंड ने राज किया. पहला टेस्ट आज से 145 साल पहले, यानी 15 मार्च 1877 को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न शहर में खेला गया था. इन 145 सालों में क्रिकेट में कई बड़े बदलाव हुए. 6 दिन का टेस्ट, पांच दिन का हुआ, फिर सफेद कपड़ों में 60 ओवर के वनडे की शुरुआत हुई. फिर रंगीन कपड़ों और फ्लड लाइट्स की एंट्री हुई, टीवी और टी20 से होते हुए क्रिकेट का यह सफर टी10 तक पहुंच गया.

आज टी20 कैमरों के जरिए यह खेल घर-घर तक पहुंच रहा है. लेकिन, एक दौर ऐसा था जब सिर्फ रेडियो पर लोग क्रिकेट की कॉमेंट्री सुनते थे. लेकिन, 1938 में इसमें क्रांतिकारी बदलाव आया और पहली बार ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच हुआ टेस्ट मैच टीवी के जरिए लोगों के घरों तक पहुंचा. यह बदलाव आज ही के दिन यानी 24 जून, 1938 को हुआ था. तब पहली बार टेलीविजन पर लोगों ने लाइव क्रिकेट मैच का मजा उठाया था.

इसकी कोशिशें तो वैसे 1936 से ही शुरू हो गई थी. लेकिन, रिसीवर काफी मंहगे थे और संख्या भी कम थी. नॉर्थ लंदन में सिर्फ एक ही स्थान पर ट्रांसमीटर लगा था. हालांकि, 2 साल में हालात बदले और जून 1938 में खेलों को लाइव टेलिकास्ट करने की शुरुआत हुई. पहले फुटबॉल, फिर टेनिस और इसके बाद क्रिकेट टीवी के जरिए लोगों के घर-घर तक पहुंचा.

लॉर्ड्स के मैदान पर रचा गया था इतिहास
क्रिकेट में आए इस बड़े बदलाव का गवाह बना था लॉर्ड्स का ऐतिहासिक मैदान और आमने-सामने थीं ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीमें. 24 जून को 11 बजकर 29 मिनट पर, क्रिकेट को बदलने वाले कैरी पैकर के पैदा होने के करीब 6 महीने बाद क्रिकेट मैच को लोगों ने पहली बार टीवी पर देखा. ऑस्ट्रेलिया के अर्नी मैककॉर्मिक ने पहली गेंद फेंकी और इंग्लिश बल्लेबाज चार्ली बार्नेट ने इसका सामना किया.

84 साल पहले टीवी पर देखा गया था लाइव मैच
तब केवल एक ही ट्रांसमिटर था, जो नॉर्थ लंदन के एलेक्जेंडर पैलेस में लगा था. उस समय लंदन में कुछ हजार लोगों के पास ही टीवी सेट थे और सिग्नल उनके घर तक ही पहुंच सके, जोकि कि एलेक्जेंडर पैलेस के कुछ किलोमीटर की दूरी पर रहते थे. तब ब्लैक एंड व्हाइट टीवी लोगों के पास थी. उसी के जरिए यह मैच देखा गया था.

इस टेस्ट के सभी दिन का लाइव टेलिकास्ट टीवी पर किया गया था. हालांकि, इसके बाद के 84 सालों में क्रिकेट देखने का अंदाज बिल्कुल बदल गया है. अब दोनों छोर पर कैमरे लगे होते हैं. हॉक आई, स्टम्प कैमरा, स्टम्प माइक, स्निकोमीटर ने खेल को टीवी पर देखने का अंदाज ही बदल दिया है.

इंग्लैंड ने भारत की पारी महज 42 रन पर समेटी, 46 बरस तक रहा था टेस्ट का न्यूनतम स्कोर

ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड के बीच हुआ टेस्ट ड्रॉ रहा था
टीवी पर लाइव टेलिकास्ट हुए इस पहलेके नतीजे की बात करें, तो यह मुकाबला ड्रॉ रहा था. इंग्लैंड ने पहली पारी में 494 रन बनाए थे. इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 422 रन पर खत्म हुई थी. पहली पारी के आधार पर इंग्लैंड को 72 रन की बढ़त मिली. इसके बाद इंग्लैंड ने दूसरी पारी 242/8 के स्कोर पर घोषित की. इस तरह ऑस्ट्रेलिया को 315 रन का टारगेट मिला था. लेकिन, टेस्ट के आखिरी दिन खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया ने 6 विकेट के नुकसान पर 204 रन बनाए. इस तरह यह मुकाबला ड्रॉ रहा.

Tags: England vs Australia, Lords Test, On This Day, Test cricket

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.