News Details

  • Home -
  • News Details

Sarai Kale Khan RRTS Station: ट्रेन, बस, मेट्रो के बाद RRTS... जहां से निकलेगा दिल्ली के चारों ओर जा
research

RRTS Station Delhi: सराय काले खां स्टेशन दिल्ली-मेरठ रैपिड रीजनल ट्रांसपोर्ट सिस्टम (RRTS) कॉरिडोर का सबसे बड़ा स्टेशन होगा. जिसे मल्टी-मॉडल ट्रांसपोर्ट हब के रूप में तैयार किया जा रहा है. प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद यहां से मुसाफिरों को मेट्रो, रेल और रोड यानी हर तरह के ट्रांसपोर्ट की सीधी सुविधा मिलेगी.

RRTS station Sarai Kale Khan: सराय काले खां में बन रहा रैपिड रीजनल ट्रांसपोर्ट सिस्टम (RRTS Station) स्टेशन जल्द एक मल्टी-मॉडल ट्रांसपोर्ट हब बनने जा रहा है, जो सार्वजनिक परिवहन के मौजूदा सभी संसाधनों के साथ सीधी कनेक्टिविटी प्रदान करेगा. यह बेहद एडवांस स्टेशन दिल्ली मेट्रो पिंक लाइन पर वीर हकीकत राय अंतरराज्यीय बस टर्मिनस (आईएसबीटी, हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन और हजरत निजामुद्दीन मेट्रो स्टेशन) से जुड़ा होगा. 

वन स्टॉप डेस्टिनेशन
इस स्टेशन में रिंग रोड पर एक प्रवेश/निकास (Entry/Exit) गेट भी होगा और इसके नीचे एक पैदल यात्री प्लाजा के साथ एक सिटी बस इंटरचेंज सुविधा भी होगी. यानी हर मायने से ये RRTS स्टेशन ट्रांसपोर्ट के लिए वन-स्टॉप डेस्टिनेशन साबित होगा. पैसेंजर्स बिना स्टेशन से बाहर निकले ही एक ट्रांसपोर्ट मोड से दूसरे में आसानी से जा सकेंगे.

पीएम गति शक्ति प्लान
इस मल्टी-मॉडल इंटीग्रेशन आरआरटीएस का मूल सिद्धांत पीएम गति शक्ति-राष्ट्रीय मास्टर प्लान (PM Gati Shakti-National Master Plan) के अनुरूप है. इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है, ताकि यात्री बिना स्टेशन से बाहर निकले परिवहन के एक साधन से दूसरे साधन में जा सकें. इस सपने को सच बनाने के लिए लिफ्ट, एस्केलेटर और फुट ओवरब्रिज (एफओबी) मुहैया कराए जा रहे हैं.

स्टेशन की खासियत
इस प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक, इस स्टेशन की लंबाई 215 मीटर, चौड़ाई 50 मीटर और ऊंचाई 15 मीटर होगी. खूबसूरती के लिए वेंटिलेटेड ग्लास लिफ्ट लगाई जाएंगी. सराय काले खां RRTS स्टेशन से वीर हकीकत राय इंटरस्टेट बस टर्मिनस (ISBT) महज 80-85 मीटर दूर होगा. स्टेशन का एक एंट्री/एग्जिट गेट ISBT के पास होगा.

ISBT और RRTS स्टेशन को लिंक करने के लिए एक फुटपॉथ भी होगा. सराय काले खां RRTS स्टेशन का एक गेट पिंक लाइन पर मौजूद हजरत निजामुद्दीन मेट्रो स्टेशन के पास भी बनेगा. RRTS स्टेशन परिसर से हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन की दूरी करीब 300 मीटर होगी. इसके दोनों हिस्सों को फुट ओवरब्रिज से जोड़ने की तैयारी है. RRTS स्टेशन पूरे कॉरिडोर का सबसे बड़ा स्टेशन होगा. जहां 4 ट्रैक्स के साथ 6 प्लेटफॉर्म बनाए जाएंगे ताकि यात्री बिना ट्रेन बदले उनके बीच मूव कर सकेंगे.