PPF, सुकन्या समृद्धि और NSC जैसी स्कीम्स के निवेशकों के लिए अच्छी खबर, 30 जून को सरकार देगी बड़ी खुशखबरी! PPF Sukanya Samriddhi and NSC schemes Good news for the investors on June 30 the government w

PPF, सुकन्या समृद्धि और NSC जैसी स्कीम्स के निवेशकों के लिए अच्छी खबर, 30 जून को सरकार देगी बड़ी खुशखबरी! PPF Sukanya Samriddhi and NSC schemes Good news for the investors on June 30 the government w
Small Saving - India TV Paisa
Photo:INDIA TV

Small Saving 

Highlights

  • छोटी बचत पर वित्त मंत्रालय तय करता है ब्याज दर
  • पिछले दो साल के छोटी बचत पर ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ
  • सरकार अब महंगाई देखते हुए ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकती है

PPF, सुकन्या समृद्धि और NSC समेत तमाम स्मॉल सेविंग स्कीम्स में निवेश करने वालों निवेशकों को जल्द अच्छी खबर मिल सकती है। करीब दो साल बाद सरकार 30 जून को स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी का ऐलान कर सकती है। विशेषज्ञों ने यह राय जताई है। विशेषज्ञों का कहना है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में 50 बेसिस प्वाइंट का इजाफा कर 4.90 फीसदी कर दिया है। आगे भी महंगाई को काबू करने के लिए रेपो रेट में बढ़ोतरी की तैयारी है। RBI के बाद अधिकांश बैंकों ने एफडी पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। ऐसे में सरकार भी देशभर के स्मॉल सेविंग स्कीम्स में निवेशकों करने वाले निवेशकों को खुशखबरी दे सकती है। सरकार 30 जून को स्मॉल सेविंग्स स्कीम पर ब्याज दरों की समीक्षा करेगी। इसमें ब्याज दरों में बढ़ोतरी का ऐलान हो सकता है। 

अभी ब्याज दर निचले स्तर पर 

कोरोना के बाद से सभी तरह के जमा पर निवेशकों को बहुत कम ब्याज मिल रहा है। सविंग अकाउंट पर बैंक 2.5% से लेकर 3% का ब्याज दे रहे हैं। वहीं, एक से तीन साल की एफडी 5.5%, पांच साल की एफडी 6.7% और पांच वर्ष की आरडी 5.8% ब्याज मिल रहा है। डाकघर में वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर 7.4% की दर से ब्याज मिल रहा है। अभी पीपीएफ 7.1%, किसान विकास पत्र 6.9% और सुकन्या समृद्धि योजना 7.6% की दर से ब्याज निवेशकों को मिल रहा है। 

बचत पर ब्याज बढ़ाना जरूरी 

विशेषज्ञों का कहना है कि इस समय आम लोगों को राहत देने के लिए बचत पर ब्याज बढ़ाना जरूरी है। कोरोना के बाद घटी आय के बीच उपभोक्ता आसमान छूती महंगाई से परेशान हैं। ऐसे में छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज बढ़ाने का फैसला एक अच्छा कदम हो सकता है। इससे बैंकों के पास छोटी बचत योजनाओं में डिपॉजिट बढ़ेगा। इससे लिक्विडिटी बढ़ेगी और महंगाई को काबू करने में मदद ​भी मिलेगी। 

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.