Ranji Trophy 2022 mumbai team has won the most Ranji Trophy know the top 5 Ranji Trophy 2022 : इस टीम ने सबसे ज्यादा जीती है रणजी ट्रॉफी, जानिए टॉप 5

Ranji Trophy 2022 mumbai team has won the most Ranji Trophy know the top 5 Ranji Trophy 2022 : इस टीम ने सबसे ज्यादा जीती है रणजी ट्रॉफी, जानिए टॉप 5
Ranji Trophy 2022- India TV Hindi
Image Source : TWITTER
Ranji Trophy 2022

Highlights

  • मुंबई और मध्य प्रदेश के बीच खेला जाएगा रणजी ट्रॉफी 2022 का फाइनल
  • 22 जून से बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा फाइनल मैच
  • मध्य प्रदेश के पास पहली बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीतने का है मौका

भारत की सबसे प्रतिष्ठित रणजी ट्रॉफी का फाइनल एक बार फिर होने जा रहे है। इस बार मुंबई और मध्य प्रदेश की टीम फाइनल में पहुंची हैं। दोनों टीमों ने अब तक बेहतरीन प्रदर्शन किया है। मुंबई ने उत्तर प्रदेश के खिलाफ अपने सेमीफाइनल मैच के अंतिम दिन पहली पारी की बढ़त के आधार पर रणजी ट्रॉफी फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। फाइनल में मुंबई का सामना मध्य प्रदेश से होगा, जो 22 जून से एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा। लेकिन क्या आपको पता है कि अभी तक रणजी ट्रॉफी का खिताब सबसे ज्यादा बार किस टीम ने जीता है। 

मुंबई ने अब तक जीता है सबसे ज्यादा बार रणजी ट्रॉफी का फाइनल 

अभी तक रणजी ट्रॉफी की सबसे बेहतरीन की टीम की बात करें तो ये मुंबई की टीम है। मुंबई ने अभी तक कुल मिलाकर 41 बार रणजी ट्रॉफी जीती है। ये आंकड़े जानकर आप भी चकरा सकते हैं। बड़ी बात ये भी है कि दूसरी कोई भी टीम मुंबई के आसपास भी नहीं है। मुंबई के बाद दूसरे नंबर पर दिल्ली की टीम है, जिसने अब तक 15 बार रणजी ट्रॉफी जीती है। अब पहले और दूसरे नंबर के बीच का अंतर आपको समझ में आ रहा है होगा। साथ ही ये भी समझ में आ रहा होगा कि मुंबई की टीम कितनी मजबूत है। वहीं तीसरे नंबर की टीम की बात करें तो ये बंगाल है, जिसने अब तक 14 बार खिताब पर कब्जा किया है। कर्नाटक भी अब तक 14 बार रणजी का खिताब जीत चुकी है। इसके बाद नंबर आता है, तमिलनाडु का, जिसने 12 बार इस पर कब्जा जमाया है। ये रणजी की अब तक सर्वश्रेष्ठ टीमें हैं। वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश की बात करें तो इसने अभी तक एक भी बार खिताब अपने नाम नहीं किया है। यानी अगर मध्य प्रदेश की टीम जीतती है तो ये पहली बार होगा कि एमपी की टीम रणजी की विजेता बनेगी। लेकिन मुंबई की टीम ने जिस तरह से अभी तक प्रदर्शन किया है, ऐसे में उसके लिए ये आसान नहीं होने वाला। 

मुंबई ने उत्तर प्रदेश को हराकर फाइनल में बनाया अपना स्थान
बात मुंबई और उत्तर प्रदेश के बीच खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले की बात करें तो मुंबई ने उसे कोई भी मौका नहीं दिया। मुंबई ने अपनी पहली पारी में 393 रन बनाने के बाद उत्तर प्रदेश की पारी को 180 रनों पर समेट कर बड़ी बढ़त हासिल की। जब चौथे दिन खेल समाप्त हुआ था तो मुंबई ने यशस्वी जायसवाल और अरमान जाफर के शतकों के दम पर चार विकेट पर 449 रन बनाए थे। इस समय मुंबई की कुल बढ़त 662 रनों की हो गई थी, जिससे मुंबई के फाइनल में पहुंचने पर लगभग मुहर लग गई थी। शनिवार को मैदान के गीले होने के कारण लंच के सत्र के बाद खेल शुरू हुआ। और सरफराज खान और शम्स मुलानी ने उत्तर प्रदेश की कमजोर गेंदबाजी का फायदा उठाना जारी रखा। दोनों बल्लेबाजों के अर्धशतक के पूरा होने के बाद दोनों टीमों के कप्तानों में मैच को ड्रॉ करने पर सहमति जताई। मुंबई ने दूसरी पारी में चार विकेट पर 533 रन बनाए, जिससे उनकी कुल बढ़त 746 रन की हो गई। मजे की बात ये भी है कि फाइनल में मुंबई के दो पूर्व खिलाड़ी आमने-सामने होंगे। मुंबई के कोच अमोल मजूमदार और मध्य प्रदेश के कोच चंद्रकांत पंडित दोनों मुंबई के लिए खेल चुके हैं। 

सबसे ज्यादा रणजी का खिताब जीतने वाली टीमें 
मुंबई : 46
दिल्ली : 15
बंगाल : 14
कर्नाटक : 14
तमिलनाडु : 12

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.