SBI ने खुशी के साथ दिया झटका, FD पर बढ़ाया ब्याज लेकिन लोन को किया महंगा SBI gave a shock with joy, increased interest on FD but made loans expensive

SBI ने खुशी के साथ दिया झटका, FD पर बढ़ाया ब्याज लेकिन लोन को किया महंगा SBI gave a shock with joy, increased interest on FD but made loans expensive
SBI- India TV Paisa
Photo:FILE

SBI

Highlights

  • दो करोड़ रुपये से कम की मियादी जमा पर ब्याज दरों में 0.20 प्रतिशत की वृद्धि की
  • वेबसाइट पर उपलब्ध सूचना के अनुसार संशोधित ब्याज दर 14 जून, 2022 से प्रभावी होगी
  • एसबीआई ने रेपो से जुड़ी ऋण दर (आरएलएलआर) को बढ़ाकर 7.15 प्रतिशत कर दिया

SBI ने जमा (FD) और कर्ज पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पिछले सप्ताह नीतिगत दर रेपो में वृद्धि के बाद एसबीआई ने यह कदम उठाया गया है। एसबीआई ने चुनिंदा परिपक्वता अवधि की दो करोड़ रुपये से कम की मियादी जमा पर ब्याज दरों में 0.20 प्रतिशत की वृद्धि की है। एसबीआई की वेबसाइट पर डाली गई सूचना के अनुसार, दो करोड़ रुपये से कम की खुदरा घरेलू मियादी जमा पर संशोधित ब्याज दर 14 जून, 2022 से प्रभावी होगी। 

सभी जमा पर नहीं बढ़ी ब्याज

वेबसाइट पर उपलब्ध सूचना के अनुसार, 211 दिन से लेकर एक साल से कम अवधि के लिये जमा पर ब्याज दर 4.60 प्रतिशत होगी जो अभी 4.40 प्रतिशत है। वरिष्ठ नागरिकों को 5.10 प्रतिशत ब्याज मिलेगा जो अभी 4.90 प्रतिशत है। इसी प्रकार, एक साल से लेकर दो साल से कम अवधि की जमाओं पर ग्राहकों को 5.30 प्रतिशत ब्याज मिलेगा। इसमें 0.20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। वहीं, वरिष्ठ नागरिकों को 5.80 प्रतिशत ब्याज मिलेगा। इसके अलावा एसबीआई ने दो वर्ष से लेकर तीन साल से कम की जमा पर ब्याज दर को 5.20 प्रतिशत से बढ़ाकर 5.35 प्रतिशत कर दिया है। इसमें वरिष्ठ नागरिकों को 5.85 प्रतिशत ब्याज मिलेगा, जो पहले 5.70 प्रतिशत था। वहीं, बैंक ने दो करोड़ रुपये और उससे अधिक की घरेलू थोक सावधि जमा पर ब्याज दर में 0.75 प्रतिशत तक की वृद्धि की है। 

लोन को भी किया महंगा

सार्वजानिक क्षेत्र के बैंक एसबीआई ने रेपो से जुड़ी ऋण दर (आरएलएलआर) को बढ़ाकर 7.15 प्रतिशत कर दिया है। यह पहले 6.65 प्रतिशत थी। इस फैसले का असर बैंक से लोन लेने वाले नए और पुराने ग्राहकों पर होगा। उनकी लोन की ईमएआई बढ़ जाएगी। 

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.