अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2022: ब्‍लड सर्कुलेशन बेहतर करने के लिए नियमित करें ताड़ासन, ऐसे करें योगाभ्‍यास

International Yoga Day 2022:  योग हमारे जीवन में चहोतरफा विकास के लिए काफी उपयोगी होता है. योग की मदद से हम ना केवल शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनते है, बल्कि यह हमें सामाजिक, आध्‍यात्मिक रूप में भी सशक्‍त बनाता है. अगर हम नियमित रूप से योग करें और इसके यम नियम को अपने जीवन में शामिल करें तो इसका असर हमारे व्‍यक्तित्‍व पर नजर आता है. इसलिए अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस पर हम यह तय करें कि अपने व्‍यस्‍त जीवन में भी योग को शामिल करें और अपना सर्वांगीण विकास करें. आज न्यूज़18 हिंदी के फेसबुक लाइव सेशन में योग प्रशिक्षिका सविता यादव (Savita Yadav) ने योग के बारे में कई जानकारियां दीं और चालन क्रियाओं के अलावा ताड़ासन, वृक्षासन सहित कई जरूरी आसन व प्राणायाम का अभ्‍यास कराया.

ध्‍यान से करें शुरुआत
अपने अपने मैट पर किसी भी आसन में बैठें और कमर गर्दन सीधी करते हुए ध्‍यानन की मुद्रा में बैठें. अपने सांस पर ध्‍यान केंद्रित करें. बंद आंखों से खुद को देखने का प्रयास करें. तीन बार ओम करें और किसी मंत्र का उच्चारण करें और प्रार्थना करें.

चालन क्रियाएं करें
योग और आसन का प्रारंभ हमेशा चालन क्रियाओं के बाद ही करें. इसे करने के लिए अपने मैट पर खड़े हो जाएं.
-ग्रीवा शक्ति विकासक क्रिया करने के लिए सांस लेते हुए अपनी गर्दन को पीछे की तरफ लेकर जाएं. अब सांस छोड़ते हुए अपनी गर्दन को आगे लेकर आएं. इसी तरह सांस लेते हुए गर्दन को दाईं और फिर बाईं तरफ घुमाएं. अब क्लॉक वाइज़ और फिर एंटी क्लॉक वाइज़ रोटेट करें.

यह भी पढ़ें – अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2022: महिलाओं के लिए रामबाण है भद्रासन, ऐसे करें अभ्यास

– इसके बाद स्कंद शक्ति विकासक क्रिया करें. इसके लिए दोनों हाथों को ऊपर की तरफ स्‍ट्रेच करते हुए सीधा लेकर जाएं. अब सांस छोड़ते हुए हाथों को नीचे लेकर आएं. यह प्रक्रिया 10 बार करें. विस्‍तार से इस विडियो लिंक पर आप देख सकते  हैं.

अब करें योगासन

ताड़ासन
इसके लिए सबसे पहले आप मैट पर खड़े हो जाएं और अपने कमर और गर्दन को सीधा रखें. अब हाथों की उंगलियों को इंटरलॉक करते हुए हाथों को कान से सटाते हुए ऊपर ले जाएं. गहरी सांस लेते हुए धीरे-धीरे पूरे शरीर को ऊपर की तरह खींचें. खिंचाव को पैर की उंगली से लेकर हाथ की उंगलियों तक महसूस करें.इस अवस्था को कुछ समय के लिए बनाए रखें ओर सांस लें व सांस छोड़ें. फिर सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे अपने हाथ और शरीर को पहली अवस्था में लेकर आएं. इस तरह से एक चक्र पूरा होता है. इसे करने से शरीर को अलाइन करता है, ब्‍लड सर्कुलेशन बेहतर होता है, मांसपेशियों में खिंचाव करता है, पूरा शरीर एक्टिव करता है.

वृक्षासन
अब मैट पर सीधे खड़े हो जाएं. धीरे-धीरे दाएं घुटने को मोड़ते हुए उसे बाईं जांघ पर रखें. बाएं पैर को एकदम सीधा रखें और सांसों की गति को सामान्य करें. धीरे से सांस खींचते हुए दोनों हाथों को ऊपर की तरफ उठाएं. दोनों हाथों को ऊपर ले जाकर ‘नमस्कार’ की मुद्रा बनाएं. रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें. इस तरह बॉडी बैलेंस बनाएं और होल्‍ड करें. धीरे-धीरे हाथों को नीचे की तरफ लेकर आएं. अब दूसरे पैर से इस तरह की मुद्रा बनाएं.

इसे भी पढ़ें : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2022: कमर की चर्बी कम करने के लिए करें त्रिकोणासन, जानें सही तरीका

 भुजंगासन
अपने अपने मैट पर पेट के बल लेट जाएं और दोनों पंजों को बाहर की तरह निकाल कर रिलैक्‍स की मुद्रा में हो जाएं. दोनों हथेलियों को अपने चेहरे के पास मैट पर रखें  और उस पर सिर रखें. अब हाथों को कंधों के पास मैट पर रखें. दोनों पैरों को आपस में जोड़ेंगे.  ध्‍यान रहे कि एडि़यां और पंजे आपस में जुड़े हों.  अब कमर से उपर की तरफ उठें. अब पूरा वजन कंधे पर लेते हुए बॉडी को स्‍ट्रेच करें और आकाश की तरफ देखने का प्रयास करें. इसी मुद्रा में कुछ देर रहें. 10 तक गिन सकते हैं. अब सांस छोड़ते हुए पहली मुद्रा में आ जाएं. इसे करने से कमर, कंधे, पीठ आदी में दर्द से आराम मिलता है और यहां के मसल्‍स मबजूत बनते हैं. आप विडियो लिंक पर पूरा अभ्‍यास विस्‍तार से देख सकते हैं.

 

Tags: Benefits of yoga, International Day of Yoga, International Yoga Day, Lifestyle, Yoga

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.