जुमे की नमाज से पहले यूपी पुलिस सतर्क, चप्पे-चप्पे पर रख रही है नजर

Image Source : PTI
Police has appealed to maintain peace

Highlights

  • शहर में 300 से भी ज्यादा सीसीटीवी लगाये गए हैं
  • कई जगह पुलिस ड्रोन से भी निगरानी कर रही है।
  • पिछले शुक्रवार को प्रदेश में सबसे ज्यादा हिंसा प्रयागराज में हुई थी

UP News: पिछले दो शुक्रवारों को हुई हिंसा को देखते हुए आज उत्तर प्रदेश की सरकार ज्यादा चौकन्नी है। जुमे की नमाज के मद्देनजर प्रशासन भी सख्ती बरत रहा है। सरकार की तरफ से पुलिस को भी स्पष्ट कर दिया गया है कि उपद्रव करने वालों से सख्ती से निपटा जाए। उन्हें किसी भी कीमत पर न बख्शा जाए। पूरे उत्तर प्रदेश में पुलिस का पहरा काफी मजबूत कर दिया है। चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी से निगरानी की जा रही है। कई जगह तो ड्रोन से भी निगरानी की जा रही है। 

प्रयागराज में हुई थी सबसे ज्यादा हिंसा 

पिछले शुक्रवार को प्रदेश में सबसे ज्यादा हिंसा प्रयागराज में हुई थी। जिसे देखते हुए प्रशासन वहां अतिरिक्त सावधानी बरत रहा है। इस बार पिछली बार की तुलना में वहां होमगार्ड, पीएसी और पैरा मिलिट्री की संख्या ली गुना बढ़ाई गई है। शहर में 300 से भी ज्यादा सीसीटीवी लगाये गए हैं और 4 ड्रोन कैमरे की भी मदद ली जा रही है। इसके साथ ही पुलिस, पीएसी और पैरामिलिट्री के जवानों के द्वारा फ्लैग मार्च किया जा रहा है। साथ ही बड़ी संख्या में मजिस्ट्रेट की भी तैनाती की गई है। 

आम नागरिक करें पुलिस की मदद 

ख़बरों के अनुसार रात में शहर और देहात में तमाम होटलों, ढाबों, मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों, चर्च और स्कुल समेत कई जगहों और उनके आस-पास गहन चेकिंग भी की गई, जिससे असामजिक गतिविधियों पर लगाम लगाई जा सके। साथ ही प्रयागराज पुलिस ने लोगों को मदद करने की भी अपील की है। जिसके लिए पुलिस ने दो नंबर भी जारी किये हैं। पुलिस के अनुसार 9454402863, 9454400248 नंबरों पर कॉल कर लोग शरारती तत्वों के बारे में जानकारी दे सकते हैं. उस कॉल के आधार पर पुलिस तुरंत सतर्क होते हुए आरोपियों पर कार्रवाई करेगी।

वहीं पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि ईंट पत्थर, लाठी, हिंसा का प्रयोग कर क़ानून को हाथ में न लें। क़ानून व्यवस्था अपने हाथ में लेने से बचें. साफ कर दिया गया है कि सभी ऐसे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और उन्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

 

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.