23 साल बाद रणजी ट्रॉफी फायनल खेलेगा मध्य प्रदेश, सिंधिया-शिवराज ने दी शुभकामनाएं

23 साल बाद रणजी ट्रॉफी फायनल खेलेगा मध्य प्रदेश, सिंधिया-शिवराज ने दी शुभकामनाएं

इंदौर. मध्यप्रदेश की टीम 23 साल बाद रणजी ट्रॉफी फायनल खेलने जा रही है. खास बात ये है कि 1999 में टीम चंद्रकांत पंडित की कप्तानी में पहली बार रणजी के फाइनल में पहुंची थी. अब वो ही टीम के कोच हैं. उनकी कोचिंग में ही टीम 22 जून से मुंबई के खिलाफ खिताबी मुकाबले में उतरेगी. टीम के सदस्यों की हौसलाअफजाई के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की. 1999 में कर्नाटक के खिलाफ खेले गए फायनल मुकाबले में एमपी को हार का सामना करना पड़ा था.

इंदौर के लोग भी एतिहासिक मैच का साक्षी बनने मुंबई पहुंच रहे हैं. रणजी टीम में इंदौर के भी तीन खिलाड़ी शुभम शर्मा, रजत पाटीदार और सारांश जैन शामिल हैं. इन खिलाडियों को तैयार करने वाले बीसीसीआई के सदस्य राजू चौहान का कहना है हम लोग बहुत खुश हैं कि हमारे बच्चे रणजी टीम का हिस्सा हैं. पूरे एमपीसीए की टीम आज गौरव का अनुभव कर रही है.

सिंधिया ने दी शुभकामनाएं-केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कोच चंद्रकांत समेत सभी लोगों से बात कर शुभकामनाएं दी हैं. हम लोग भी मैच देखने मुंबई जा रहे हैं. वहीं पूर्व रणजी खिलाड़ी का कहना है चंद्रकांत पंडित ने बहुत मेहनत कराई है. शाम से सुबह 5 बजे तक प्रैक्टिस चलती थी. अब जाकर मेहनत रंग ला रही है.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस की मेयर उम्मीदवार का नोट बांटने का वीडियो वायरल, बीजेपी पहुंची निर्वाचन आयोग

इंदौर के तीन खिलाड़ी
एमपीसीए से जुड़े पंकज पांडे का कहना है हमारे सीनियर ऑफिसर सहित हम लोग मुंबई जा रहे हैं. हम लोगों ने ही इन खिलाड़ियों का चयन किया है. एमपीसीए से जुड़े पूर्व क्रिकेटर और कोच संदीप मूंगरे का कहना है ये इंदौर के लिए बहुत बड़ी बात है कि टीम में तीन खिलाड़ी शामिल हैं. एमपी की टीम फाइनल जरूर जीतेगी. क्रिकेट प्रेमियों को विश्वास है कि एमपी की टीम फायनल जीतकर ही आएगी. इंदौर के एसीपी राकेश गुप्ता का कहना है मप्र की टीम लंबे इंतजार के बाद फायनल में पहुंची है. कोच और खिलाड़ियों की मेहनत काबिल ए तारीफ है.

Tags: BCCI Cricket, Cricket news, Madhya pradesh latest news, Ranji cricket, Ranji Trophy

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.