Former Indian Player Sunil Gavaskar Said That Breaking Sachin Tendulkar’s Record Of Most Runs In Test Cricket Will Not Be Easy For Root

Former Indian Player Sunil Gavaskar Said That Breaking Sachin Tendulkar’s Record Of Most Runs In Test Cricket Will Not Be Easy For Root

Sunil Gavaskar On Sachin Tendulkar & Joe Root: महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकार्ड है. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के नाम 200 टेस्ट मैचों में 15921 रन दर्ज हैं. हालांकि, पिछले कई सालों से यह सवाल बना हुआ है कि सचिन के सबसे ज्यादा टेस्ट रनों के रिकार्ड को कौन बल्लेबाज तोड़ेगा. लेकिन अब ऐसा माना जा रहा है कि इंग्लैंड के बल्लेबाज जो रूट (Joe Root) टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के रिकार्ड को तोड़ सकते हैं. दरअसल, पिछले 2 टेस्ट में जो रूट (Joe Root) 2 शतक लगा चुके हैं.

‘जो रूट के पास मौका, लेकिन…’

अब पूर्व भारतीय खिलाड़ी सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि जो रूट को सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का रिकार्ड तोड़ने के लिए तकरीबन 6000 रन बनाने होंगे. इसका मतलब अगले 8 सालों तक हर साल 1000-800 रन बनाने होंगे. उन्होंने कहा कि जो रूट (Joe Root) 31 साल के हैं. ऐसे में वह सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के रिकार्ड को तोड़ सकते हैं. हालांकि, जो रूट (Joe Root) के लिए ऐसा करना आसान नहीं होगा. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान को लगातार रन बनाने होंगे. गौरतलब है कि जो रूट (Joe Root) टेस्ट क्रिकेट में अब तक 27 शतक लगा चुके हैं. वहीं, पिछले दिनों उन्होंने टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) में 10 हजार रनों का आंकड़ा पार किया. ऐसा करने वाले वह दूसरे इंग्लिश बल्लेबाज बने.

‘शारीरिक और मानसिक थकान से जूझना आसान नहीं’

पूर्व भारतीय खिलाड़ी सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ऐलिस्टर कुक (Alastair Cook) का उदाहरण दिया. उन्होंने कहा कि एक वक्त ऐसा लग रहा था कि ऐलिस्टर कुक (Alastair Cook) टेस्ट क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का रिकार्ड तोड़ सकते हैं. लेकिन वह ऐसा करने में नाकामयाब रहे. सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने आगे कहा कि ऐलिस्टर कुक (Alastair Cook) अभी भी फर्स्ट क्लास क्रिकेट (First Class Cricket) खेल रहे हैं. लेकिन लंबे वक्त तक इंटरनेशनल क्रिकेट खेलना आसान काम नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि इटंरनेशनल क्रिकेट (International Cricket) में खिलाड़ियों को शारीरिक थकान के अलावा मानसिक थकान से भी जूझना पड़ता है.

ये भी पढ़ें-

Most Wickets in Test: जेम्स एंडरसन बने टेस्ट के तीसरे सबसे सफल गेंदबाज, टॉप पांच में एक भारतीय शामिल

‘हमें टीम में कई सुधार करने की जरूरत’, वेस्टइंडीज का सूपड़ा साफ करने के बाद Babar Azam का बड़ा बयान

Atul Tiwari

Atul Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published.